सेक्स समस्या के लिए सम्पर्क करें निःसंकोच

09718388999

सम्पर्क करें

बचपन की गलती को भूल जाएँ और सुखमय वैवाहिक जीवन व्यतीत करें

बचपन में गलत काम करने के कारण आई कमज़ोरी का आयुर्वेदिक इलाज

अपनी वैवाहिक जीवन को सुखमय और आनंदमय बनाये अपनी साथी को खुश करियें

बचपन की छोटी सी गलती से आप के जीवन में बड़ी सेक्स समस्या है। जिस के करण आप सेक्स नही कर पाते ,जैसे सेक्स करते है तो जल्द हो जाना या सेक्स करते समय सेक्स शक्ति की कमी या वीर्य की मात्र कम होना या वीर्य का पतलापन या आप के लिंग के अंदर ढीलापन रहता हे तो अपनी ये समस्या आज ही जड़ से खत्म करे आयुर्वेदिक देसी इलाज से ।हमने बनाया हे आप के लिए पेनिकिंग कैप्सूल जो इस्तमाल से आप की सेक्स शक्ति और जोश जगाता हे और साथ ही आप की सेक्स की अनेक समस्याओ को खत्म करके बेहतर स्वथ्य आप को देता है ।

सेक्स समस्या निराश क्यों क्या आप किसी सेक्स से सम्बंधित समस्या से परेशान हे । जैसे आप ज़्यादा देर तक सेक्स नही कर सकते ,क्या आप का लिंग छोटा हे ,क्या आप का लिंग हस्थमैथुन की वजह से ढीला हो गया हे 18+ सेक्स समस्याओं का इलाज जैसे नामर्दगी ,शीध्रपतन ,नपुंसकता,धात,वीर्य की कमी,जोश की कमी,सेक्स शक्ति की कमी,लिंग का छोटापन ,ढीलापन,टेढ़ापन, सुखड़न,नशों में कमजोरी ,शारीरिक कमजोरी,या कुछ बचपन की गलती नादानी की वजह से आप आज परेशान हे । जैसे किसी स्त्री से सेक्स बात करते ही उनका वीर्य निकलने लगता है और अगर वो स्त्री के साथ सेक्स भी करते है तो बहत जल्दी उनका काम हो जाता है जिसकी वजह से आप स्त्री को पूरा संतुष्ट नही कर पाते और अपने अंदर ना जाने कैसी भावना सोचते है।अक्सर इसी की वजह से आपको स्त्री के सामने झुकना पड़ता है तो निराश क्यों हम लाय हे आप के लिए ख़ास आयुर्वेदिक देसी नुस्खा जिस से आप की सारी समस्या जड से खत्म होगी और आप अपने जीवन का आनांद ले सकते हे। तो आज ही दावा मंगवाये

पेनिकिंग कैप्सूल

आयुर्वेदिक जढ़ी- बूटियों से तैयार की गयी पेनिकिंग आपके शरीर को अंदर से मजबूत बनती है।

स्वपन दोषकारण

पेनिकिंग एक हर्बल कैप्सूल

  • इससे चक्कर, घुटनों में दर्द और अनिंद्रा की समस्या होने लगती है।
  • स्वप्नदोष से शुक्राणुओं की संख्या कम होने लगती है।
  • स्वप्नदोष की वजह से पुरुषों में कामुक विचार अधिक आने लगते हैं।
  • पुरुषों का सेक्स जीवन में फुर्तीलापन खत्म हो जाता है।
  • व्यक्ति आत्म-विश्वास खोने लगता है।
  • खून की कमी होने लगती है।
  • स्वप्नदोष के कारण अंडकोष में दर्द होने लगता है।
  • बालों का झड़ना शुरू हो जाता है।
  • व्यक्ति कमजोर होने लगता है।
  • कब्ज की परेशानी शुरू हो जाती है।
  • तनाव और चिंताओं की समस्या बढ़ने लगती है।
  • इससे मानव शरीर के हॉर्मोन्स में भी बाधा उतपन्न होती है।
  • इससे चक्कर, घुटनों में दर्द और अनिंद्रा की समस्या होने लगती है।
ORDER NOW

शीघ्रपतनकारण

पेनिकिंग एक हर्बल कैप्सूल

  • शुक्राणुओ की संख्‍या में कमी होना
  • हस्तमैथुन, मुठ मारना
  • शरीर का कमजोर हो जाना
  • खुद के प्रति ग्लानी होना
  • लिंग की मांसपेशियों का टूट जाना
  • संभोग से पहले मन में शीघ्रपतन का डर आना।
  • सेक्स से पहले हस्तमैथुन करें
  • ड्रग्स और सुन्न करने वाली क्रीम या स्प्रे
  • मूत्रमार्ग या प्रोस्टेट में संक्रमण।
  • थायरॉयड ग्रंथि या शरीर में यौन हार्मोन के असामान्य स्तर के साथ हार्मोनल समस्याएं।
  • आपकी स्खलन प्रणाली के प्रतिवर्त (रिफ्लेक्स) तंत्र के साथ समस्याएं।
  • डिप्रेशन
  • जिन पुरुषों को स्तंभन दोष हैं, उनमें जल्दी स्खलन हो सकता हैं
  • फीमेल पार्टनर को संतुष्ट करने की टेंशन
ORDER NOW

छोटा लिंग?कारण

पेनिकिंग एक हर्बल कैप्सूल

  • अन्य कैप्सूल
  • स्मोकिंग, ऐलकोहल का सेवन और नशीली दवाओं की लत।
  • स्ट्रेस, रिश्ते में परेशानी, डिप्रेशन और एक व्यस्त जीवन में प्रदर्शन चिंता।
  • ब्लड शुगर लेवल या ब्लड प्रेशर नियंत्रण में नहीं होना।
  • छोटा पेनिस होने का कारण ‘हिपोस्पेडियस’ नाम की एक बीमारी होती हैं
  • गुप्त अंग संबंधी समस्या पुरूषों और महिलाओं दोनों को होती हैं।
  • अच्छे सेक्स के लिए पेनिस का एंगल 106.8 होना चाहिए।
  • लिंग दवाये से लम्बा किया जा सकता हैं
  • जब डॉक्टर निर्णय लेता है कि व्यक्ति को हार्मोनल थेरेपी (hormonal therapy) से फायदा होगा
  • शोध से पता चला है कि लिंग (penis) का औसत आकार 4.7 से 6.3 इंच के बीच बदलता है।
  • वह लिंग (penis) बढ़ने के लिए एकमात्र पेनिकींग कैप्सूल का इस्तेमाल कर सकता हैं
  • छोटा पेनिस होने से आत्मविश्वाश में कमी
  • HASTMAITHUN (Masturbation) हस्तमैथुन, मुठ मारना
ORDER NOW

गुप्त मगवायें भारत में कहीं भी सबसे अधिक प्रभावशाली वृद्धि की दवाई

एक दम फ्री कोई शिपिंग शुल्क नहीं

पेनिकिंग पैकेज को प्राप्त करें और कहीं भी भारत में गुप्त प्राप्त करें

About Us (पेनिकिंग )

पेनिकिंग एक प्राकृतिक हर्बल आयुर्वेदिक कैप्सूल पेनिकिंग मेल एनहांसमेंट एक पुरुष वृद्धि प्रणाली है जो आपके यौन युवाओं और प्रदर्शन को बहाल करने के लिए तैयार की गई है और आपको एक तीव्र, आनंदित और शक्तिशाली यौन जीवन का अनुभव करने में मदद करती है।

पेनिकिंग भारत में सबसे प्रभावी प्राकृतिक पुरुष वृद्धि की गोलियाँ है। 1929 में ऋषि हेल्थकेयर द्वारा शुरू किया गया। यह संगठन भारत में एक यूनानी आधारित दवा स्टोर संगठन है (अमरोहा, उत्तर प्रदेश)। आप इस बात पर विचार कर सकते हैं कि कितने वर्षों के बाद, यह अपने घरेलू सामानों के साथ हमारी सेवा कर रहा है।

पेनिकिंग पुरुष संवर्द्धन गोलियां आपके लिंग में रक्त के प्रवाह को बढ़ाकर आकार, कठोरता और अपनी क्रियाओं की अवधि बढ़ाने में मदद के लिए सिद्ध हर्बल अवयवों का एक शक्तिशाली संयोजन है|

यही नहीं, बेहतर रक्त प्रवाह आपकी कोशिकाओं में अधिक ऑक्सीजन और पोषक तत्व वितरित करने में मदद करता है, थकान नहीं होने देता और सेक्स के दौरान आपकी टाइमिंग को बढ़ावा देता है। पेनिकिंग के साथ, आप अपने साथी को रॉक-हार्ड इरेक्शन और सारी रात सेक्स करने का आनंद दे सकते हैं।

  • पेनिकिंग विभिन्न मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति करके सेक्सुअल हेल्थ को बढाती है।
  • आयुर्वेदिक जढ़ी- बूटियों से तैयार की गयी पेनिकिंग आपके शरीर को अंदर से मजबूत बनती है।
  • अपने संभोग सुख को बढ़ाएं मनचाहे स्तर तक का आनंद बढ़ाएँ
  • अपनी यौन इच्छा बढ़ाएँ अपनी महिलाओं को अधिक जीवन शक्ति के साथ आश्चर्यचकित करें
  • पुरुषों के लिंग में सुधार, यौन सहनशक्ति बढ़ाएँ।

Male Sexual Problems (पुरुष यौन समस्याएं)

यौन समस्याएं किसी भी पुरुष को प्रभावित कर सकती हैं, चाहे वह स्ट्रॉन्ग हो

एस्टीमना बढ़ाएँ

हम में से हर एक का आत्मसम्मान है। आत्म-सम्मान उन विचारों से बना है जो हमारे बारे में हैं और हम जो कुछ भी करते हैं उसमें एक भूमिका निभाते हैं। स्वस्थ आत्मसम्मान होना वास्तव में महत्वपूर्ण है क्योंकि यह आपको अपने रोजमर्रा के जीवन में सकारात्मक विकल्प बनाने में मदद करता है, आपको अपने स्वयं के व्यक्ति होने का साहस देता है, अच्छे संबंध रखता है और आपको कठिन परिस्थितियों से निपटने में मदद करता है। सेक्सुअल लाइफ जितनी बेहतर होती है रिलेशनशिप भी उतना ही अच्छा होता है। सभी महिला और पुरुष चाहतें की उनकी सेक्स लाइफ बेहतर हो। लेकिन कई बार लोग सेक्स के दौरान स्टैमिना की कमी के कारण जल्दी कमजोर पड़ जाते है। सेक्सुअल स्टैमिना बेड पर बेहतर परफॉर्मेंस के लिए बहुत जरूरी होता है।

अपनी सेक्स इच्छा को पूरा करें

लिबिडो या सेक्स ड्राइव, स्वाभाविक रूप से व्यक्तियों के बीच भिन्न होता है। कम सेक्स ड्राइव होना कोई समस्या नहीं है, लेकिन अगर कोई व्यक्ति अपनी कामेच्छा को बढ़ावा देना चाहता है, तो वे कई प्रभावी प्राकृतिक तरीकों की कोशिश कर सकते हैं। कई पुरुष अपने यौन प्रदर्शन को बढ़ाने के तरीकों की तलाश कर रहे हैं। इसमें मौजूदा समस्याओं को सुधारना या पेनिकिंग पॉवरफुल पर अपने साथी को खुश करने वाली पुरुष वृद्धि की गोलियाँ रखने के नए तरीकों की खोज करना शामिल हो सकता है। सेक्स पावर बढ़ाने के लिए तेल का इस्तेमाल प्राचीन काल से ही होता आ रहा है आयुर्वेद में कुछ ऐसे तेल है, जो सेक्स पॉवर और यौन उत्तेजना बढ़ाने का काम करते हैं लोग अपनी सेक्स क्षमता को बढ़ाने के साथ ही सेक्स हर व्यक्ति की एक शारीरिक जरूरत है।

अपनी सुरक्षा मजबूत + लिंग आकार बढ़ाएँ

इरेक्टाइल डिसफंक्शन तब होता है जब कोई पुरुष इरेक्शन प्राप्त नहीं कर सकता है या उसे बनाए नहीं रख सकता है। यह सभी उम्र के पुरुषों में आम है। मांसपेशियों, विशेष रूप से एक निर्माण को बनाए रखने में महत्वपूर्ण, कभी-कभी स्वर और ताकत खो देते हैं। नतीजतन, व्यायाम स्तंभन दोष (ईडी) को उलटने में मदद कर सकता है। यह आपके सभी यौन समस्याओं की यौन कमजोरी में मदद करता है। स्तंभन दोष के लिए सबसे प्रभावी उपचार है! यह आपको अपनी सेक्स ड्राइव बढ़ाने और एक-दूसरे को उत्तेजित करने और एक-दूसरे को संभोग करने के नए तरीकों को ढूंढने में मदद करता है, ग्लोस्पीड गोल्ड का उपयोग प्रतिदिन सलाह के अनुसार करने से सभी तरह की सेक्स समस्याओं में मदद कर सकता है।

पहले से उत्तेजित सेक्स के साथ लंबे समय तक सेक्स

महिला के प्राइवेट पार्ट में प्रवेश करने से पहले वीर्य का स्राव / प्रवेश के तुरंत बाद / 2 मिनट से कम समय में / संभोग के दौरान साथी की संतुष्टि से पहले शीघ्रपतन कहा जाता है। टेस्टोस्टेरोन पुरुषों और महिलाओं दोनों को सेक्स के बारे में सोचने और सेक्स करने की इच्छा में मदद करता हैं। इसलिए जब टेस्टोस्टेरोन का स्तर नीचे जाता है, तो कामेच्छा कम हो सकती है। टेस्टोस्टेरोन के स्तर में आपकी आयु बढ़ने के साथ धीरे-धीरे गिरावट आना सामान्य है। टेस्टोस्टेरोन की खुराक उसकी कामेच्छा और इरेक्टाइल फंक्शन में सुधार कर सकती है।

प्रतिदिन साथी के साथ सेक्स का आनंद

यदि आप एक ऐसे व्यक्ति हैं जो वास्तव में बिस्तर में अपने साथी को खुश करना चाहते हैं, तो इसे पढ़ें। यह उन लोगों के लिए लिखा गया है जो निवेश करते हैं, वे पुरुष जो अपने साथी को बिस्तर में खुश करने की अवधारणा से पूरी तरह से बदल जाते हैं। यह उन पुरुषों के लिए भी है जिन्होंने यौन विवाह के बारे में सुना है और अपने रिश्ते में इससे बचना चाहते हैं। हेक, शायद आपने अतीत में भी एक यौन संबंध का अनुभव किया है और आप अपने वर्तमान / भविष्य के संबंधों के साथ इस परिदृश्य को दोहराना नहीं चाहते हैं।

अपनी कामेच्छा और यौन इच्छा को बढ़ाएँ

सबसे पहली बात तो हम आपको ये बता देना चाहते है कि शरीर के अंदर लिबिडो नामक हार्मोन होता है जो कि कामेच्छा बढ़ाने का काम करता है। जब शरीर के अंदर इस हार्मोन्स की कमी आ जाती है तो इंसान की कामेच्छा के भी कमी आने लगती है। लिबिडो का संबंध कामेच्छा या यौन इच्छा से होता है। ये सेक्स हार्मोन और मस्तिष्क में सेक्स से संबंधित केंद्र से प्रभावित होता है। लिबिडो पर किसी के प्रति आकर्षण जैसे कारकों का भी असर पड़ता है। रिश्ते में कड़वाहट का असर आपकी यौन इच्छा पर भी पड़ सकता है।

Why choose us पेनिकिंग ?

आयुर्वेदिक जढ़ी- बूटियों से तैयार की गयी पेनिकिंग आपके शरीर को अंदर से मजबूत बनती है।

पुरुष पुरुष हैं और उनके संबंध उनकी मर्दानगी के साथ समान मानते हैं। छोटे लिंग वाला पुरुष बिना किसी पेशेवर मदद के कई लिंग वृद्धि की गोलियों की कोशिश करता है। इससे उनके लिए खतरा पैदा हो सकता है। लेकिन पेनिकिंग अलग है। सेक्स संबंधी सभी समस्याओं के लिए इसके प्राकृतिक और हर्बल तत्व कई प्रभावी समाधान प्रस्तुत करते हैं। यह इस तरह के रूप में सभी यौन विकार में सुधार करने में मदद करता है

भारत को "जड़ी-बूटियों का घर" भी कहा जाता है क्योंकि इसमें वनस्पति का खजाना होता है जिसे किसी भी स्थान पर खोजना आसान नहीं है। आरएचसी का मानना है कि यूनानी व्यवस्था में उपचार ने नियमित नियंत्रण खाने के माध्यम से अपने प्रारंभिक चरणों में कई साधारण संक्रमणों को मिटा दिया है। इसमें विश्व स्तरीय अनुसंधान और विकास फोकस है, जहां शोधकर्ता मानवता के लिए शक्तिशाली और लाभकारी नुस्खे बनाने के लिए दिन-रात काम करते हैं। यह सेक्स शक्ति को बढ़ाने में मदद करता है, एलएच स्तर को बढ़ाता है, टेस्टोस्टेरोन स्तर को बढ़ाता है और बिना किसी साइड-इफेक्ट के सज्जन सेक्स हार्मोन को बढ़ाता है।

पेनिकिंग भारत में लंबे समय तक चलने वाली कैप्सूल

सुरक्षा

पेनिकिंग आयुर्वेदिक और हर्बल सामग्री जैसे राउवॉल्फिया सर्पेंटिना, क्युरिक्लिगो ऑर्किओइड्स ऑर्किस मैस्कुला एनासाइक्लस पाइरेथ्रम विथानिया सोम्निफेरा का एक सुंदर मिश्रण है। पेनीकिंग सुपर-प्रभावी और शून्य साइड-इफेक्ट्स सामग्री के साथ एक प्रमाणित साइट है। यह उत्पाद उन लोगों के लिए उपयुक्त है, जो यौन समस्याओं से पीड़ित हैं और बिस्तर पर अपना आत्मविश्वास खो चुके हैं।

कैसे इस्तेमाल करे

पेनिकिंग उत्पाद का उपयोग करने में आसान है। इस सर्वश्रेष्ठ वृद्धि की दवा लेने की प्रक्रिया एक दिन में पानी या दूध के साथ 2 कैप्सूल लेने की है - सुबह में पहली खुराक और रात में अगली खुराक। आप जल्द ही परिणाम देखना शुरू कर देंगे, एक बार जब आप इन कैप्सूल को लेना शुरू कर देंगे।

क्या ये कैप्सूल प्रभावी हैं?

हां, ये कैप्सूल सुपर-प्रभावी हैं। यह आपको महान परिणामों के साथ 100% संतुष्टि की गारंटी देता है, एक बार इन कैप्सूल को नियमित रूप से लेना शुरू करें।

20000

प्रतिदिन ग्राहक

2248946

डॉक्टर परामर्शी लोग

2035850

संतुष्ट ग्राहक

5074720

खुश जोड़ी

Call To पेनिकिंग

पेनिकिंग एक प्राकृतिक हर्बल आयुर्वेदिक कैप्सूल जो की 100% आयुर्वेदिक इसका कोई भी साइड इफ़ेक्ट नहीं होता यौन समस्या में लाभदयाक

प्राकृतिक पुरुष लिंग वृद्धि कैसे काम करती है?

उपयोग करने से पहले किसी भी स्वास्थ्य पूरक के कामकाज के बारे में जानकारी इकट्ठा करना बहुत महत्वपूर्ण है। यही बात पेनिकिंग पर भी लागू होती है। पेनिकिंग के काम में शामिल मुख्य विधि पूरक के बारे में आपके ज्ञान के लिए यहां स्पष्ट है। यह सबसे पहले मुख्य कारण से समस्याओं को हल करके काम करता है। इसका मतलब है कि यह आपके शरीर में पुरुष हार्मोन के स्तर को संतुलित करता है और उस संतुलन से वे सभी फायदे होते हैं जो हर आदमी अपने जीवन में चाहता है। जिस तरह से यह काम करता है वह आपके शरीर में रक्त के एक नियमित और संवर्धित प्रवाह की आपूर्ति करता है जो आपकी मर्दानगी के आकार को बढ़ाने में सहायक होता है।

लिंग वृद्धि पुरुष द्वारा लिंग वृद्धि ने पुरुषों को अपने लिंग को बड़ा करने में मदद की है। यह आयुर्वेद में उल्लिखित पारंपरिक जड़ी बूटियों से बना एक कैप्सूल है जिसमें कामोत्तेजक गुण होते हैं, और लिंग का आकार बढ़ाते हैं, शीघ्र स्खलन रोकते हैं और मर्दानगी और कमजोर निर्माण को बढ़ाते हैं। यह आसान निर्देशों के साथ आता है- गर्म दूध या पानी के साथ प्रतिदिन एक कैप्सूल सुबह और एक शाम को लें लें। यह भारतीय बाजार में सबसे अच्छा पुरुष वृद्धि उत्पाद है। परिणाम स्थायी हैं जिन्हें आप उपयोग के 10 दिनों के भीतर नोटिस करेंगे। हम आपकी पूर्ण संतुष्टि की गारंटी देते हैं

लिंग वृद्धि

पेनिकिंग आयुर्वेद की सर्वश्रेष्ठ जड़ी-बूटियों से युक्त है जो दुनिया भर में सर्वश्रेष्ठ पुरुष वृद्धि कैप्सूल के रूप में प्रसिद्ध है। यह आपकी यौन शक्ति को चिरस्थायी निर्माण और संवेदना के लिए बढ़ाता है जो आपके साथी को हमेशा के लिए आपका प्रशंसक बना देगा। पेनीकिंग हर्बल गोलियों के साथ कामोत्तेजक गुणों के साथ कभी भी सुस्त रात नहीं होती है। हर बार अविस्मरणीय अनुभव लें।

प्राकृतिक तरीकों की मदद से एक बड़ा लिंग प्राप्त करें यदि आप उन कुछ लोगों में से एक हैं जो अपने लिंग की लंबाई बढ़ाने के लिए प्राकृतिक तरीकों की खोज कर थक गए हैं, तो आपकोपेनिकींग आयुर्वेदिक तरीको से लिंग का अकार बढ़ा सकते हैं । पुरुषों का एक बड़ा सपना है कि उनका लिंग बड़ा हो जो उनके लिए आत्मविश्वास बढ़ाने वाला हो।

धूम्रपान न करें लिंग का आकार उत्तेजना से पहले व बाद मे आपके शरीर के खून पर निर्भर करता है। धूम्रपान व कोई अन्य नशीले पदार्थों का सेवन करना आपकी नसों के मार्ग को छोटा कर देता है। जिसके चलते शरीर के अंगों में रक्त का प्रवाह सही तरीके से नहीं हो पाता है। इससे लिंग की नसों में भी रक्त का प्रवाह कम हो जाता है। जिस कारण लिंग के आकार को सही वृद्धि नहीं मिल पाती है। अगर आप अपने लिंग को बढ़ाने के लिए उपाय ढूंढ रहें हैं तो आपको जल्द ही धूम्रपान की आदत को छोड़ना होगा।

How It Work

पेनिकिंग आपको पुरुषों के लिए बेस्ट पेनिस इज़ाफ़ा पिल्स लाती है। अपने प्रदर्शन को बढ़ावा देने के लिए अपनी सहनशक्ति, तीव्र निर्माण और लिंग का आकार बढ़ाएं!

पेनिकिंग लिंग का आकार बढ़ाए हर रात अपने साथी को असंतुष्ट छोड़ने से आप उसके साथ अपने रिश्ते को नष्ट कर सकते हैं। यदि आप अभी तक समस्या नहीं उठा रहे हैं तो समस्या का पता लगाने के लिए यहां कुछ प्रश्न दिए गए हैं। क्या आप लिंग का आकार बढ़ाना चाहते हैं? क्या आप छोटे आकार के कारण महिलाओं के प्रति हीन भावना महसूस करती हैं? तुम अकेले नही हो! एक ही जूते में हजारों लोग हैं। लेकिन, अब आपको छोटे लिंग के साथ रहने की जरूरत नहीं है। पेनिकिंग आपको लिंग का आकार बढ़ाने के लिए सबसे अच्छा लिंग वृद्धि की कैप्सूल लाता है और एक आनंदमय यौन जीवन देता है।

पेनिकिंग पेनिस इज़ाफ़ा कैप्सूल: क्या वे वास्तव में काम करते हैं?

क्या आप किसी ऐसे पुरुष को जानते हैं जो लिंग का आकार नहीं बढ़ाना चाहते हैं? लगभग हर आदमी की इच्छा होती है और अपने पूरे जीवन में एक बार एक बड़े डिक के बारे में सोचता है। यह पोर्न देखने के कारण हो सकता है क्योंकि पोर्न स्टार हमेशा वीडियो में एक बड़ा डिक रखते हैं।

यदि आप भी अपने लिंग के आकार के बारे में असुरक्षित हैं और एक हद तक पेनिकिंग लिंग वृद्धि की कैप्सूल के लिए आए हैं, तो आपको सच्चाई जानने के लिए थोड़ा गहरा खुदाई करना चाहिए।

ऑनलाइन दावा करने वाले सैकड़ों लिंग वृद्धि की गोलियाँ हैं। लेकिन, इसका मतलब यह नहीं है कि सभी काम करते हैं। उनमें से कई घोटाले उत्पाद हैं जो सिर्फ आपकी मेहनत की कमाई की बर्बाद करते हैं।

फिर सवाल यह है कि क्या सभी लिंग वृद्धि की गोलियां घोटाले हैं?

नहीं, कोई बड़ा नहीं। पेनिकिंग जैसी कई लिंग वृद्धि की कैप्सूल हैं जो वास्तव में काम करती हैं। निर्णय लेने से पहले मैं आपको पेनिकिंग कैप्सूल के बारे में बता दूं।

लिंग वृद्धि की कैप्सूल क्या हैं?

“लिंग वृद्धि की गोलियाँ प्राकृतिक दवाएं हैं जो बिना सर्जरी के लिंग का आकार बढ़ाने के लिए बनाई जाती हैं। यह मांसपेशी को मजबूत और पोषित करने के लिए कॉर्पस कवर्नोसम (एक लिंग की मांसपेशी जो एक निर्माण के दौरान रक्त रखती है) को लक्षित करता है ताकि यह लंबे समय तक अधिक रक्त धारण कर सके ”

जैसा कि सब कुछ एक विकल्प है, यह भी है, पुरुष वृद्धि सर्जरी लिंग आकार बढ़ाने के लिए एक और विकल्प है, लेकिन यह बहुत खतरनाक है और सफलता की दर बहुत कम है। सर्जरी के बाद बहुत सारी जटिलताएं देखी गई हैं, जिससे कोई भी गुजरना नहीं चाहता है। अन्य विकल्प लिंग का आकार बढ़ाने के लिए लिंग विस्तारक उपकरण और इज़ाफ़ा पंप हैं, लेकिन वे परिणाम देखने के लिए एक लंबी अवधि (1 वर्ष) ले रहे हैं। इसलिए, लिंग का आकार बढ़ाने के लिए केवल लिंग वृद्धि की गोलियां सुरक्षित और प्रभावी तरीके के रूप में बची हैं, लेकिन इस पर विस्तृत पृष्ठभूमि की जाँच और विश्लेषण के बाद आपको चुनने के लिए आदेश नहीं देना चाहिए।

मैं पेनिकिंग सर्वश्रेष्ठ पुरुष संवर्धन कैप्सूल कहां खरीद सकता हूं?

पेनिकिंग भारत में सबसे विश्वसनीय लिंग इज़ाफ़ा कैप्सूल में से एक है। हाशमी दावाखाना भारत में एक प्रतिष्ठित फार्मेसी है, जिसने इस उत्पाद को एक दशक पहले बनाया था जैसा कि हमने 1929 में स्थापित किया था और तब से अब तक हमारे पास लाखों ग्राहक हैं जिन्हें वास्तविक परिणाम मिला है।

पेनिकिंग कैप्सूल क्या है?

पेनिकिंग कैप्सूल पुरुषों के लिंग का आकार बढ़ाने के लिए हाशमी दावाखाना से सबसे अच्छा लिंग वृद्धि की गोली है। यह शीर्ष प्रयोगशाला तकनीक और अत्यधिक प्रभावी और परिणाम उन्मुख सूत्र का उपयोग करके कला प्रयोगशालाओं की स्थिति में तैयार किया गया है। आपको एक सिद्ध परिणाम देता है जो पाठ्यक्रम की अवधि पूरी करने के बाद दूर नहीं जाता।

यह दवा दुर्लभ जड़ी बूटियों और हर्बल अवयवों से बनी है जिसे आप बाद में इस पृष्ठ में विस्तार से जानेंगे। जैसा कि यह उत्पाद स्वभाव से हर्बल है, हमारे रोगियों को अब तक कोई दुष्प्रभाव नहीं हुआ है।

पेनिकिंग के एक नियमित (पूर्ण पाठ्यक्रम) उपयोग से आपकी सहनशक्ति को बढ़ावा मिलेगा, आकार में वृद्धि होगी, आपको एक कठिन निर्माण और अपार शक्ति मिलेगी जो हर महिला अपने साथी में देखना चाहती है।

हमारे पास बड़ी टीम हैं एक प्रभावी गुणवत्ता जांच है जो किसी भी मिस-होने से बचने के लिए ग्राहकों को उत्पादों की शिपिंग करने के लिए विनिर्माण से लेकर पेनिकिंग की प्रत्येक बोतल की जाँच करता है।

पेनिकिंग कैप्सूल की सामग्री

  • इमली इंडिकस लिनन का बीज: 50mg
  • यूजीनिस कोरेहिलेट्टा: 40mg
  • मुरुना Pruciens: 15mg
  • मिरिस्टिका फार्ग्रेन: 50 मि.ग्रा
  • एपनिया गियानगेल भरा: 60mg
  • ज़िंगाइबर ऑफ़िसिनालिस: 10mg
  • क्वेरेकस इन्काना एंगल: 20mg
  • मैसाइरिसिका ऑफ़िसिआंगैलिस: 60 मिग्रा
  • क्वेर्केस इन्फेकटोरी: 10 मिग्रा
  • दालचीनी Zeyanlcumblum: 30mg
  • ऑरम कंपाउंड: 40mg
  • Crocistigmats :50mg

पेनिकिंग पेनिस इज़ाफ़ा चिकित्सा की आवश्यकता है?

भारतीय लिंग आकार के बारे में जानने के लिए हमने एक सर्वेक्षण के अनुसार, हमने पाया है कि भारतीय लिंग का औसत आकार 5.4 से 5.6 इंच है। तो, अगर आप उससे कम हैं तो आप इस लिंग वृद्धि की कैप्सूल के लिए जाने वाले सही उम्मीदवार हैं।

ज्यादातर महिलाएं बड़े डिक को पसंद करती हैं क्योंकि यह उन्हें अधिक संतुष्टि और कामोत्तेजना देता है जो हर महिला का सपना होता है और दूसरों के लिए आकार मायने नहीं रखता क्योंकि कई कारक हैं जो महिलाओं को संभोग करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। ज्यादातर महिलाएं लिंग के अपर्याप्त आकार के कारण एक संभोग नहीं करने के लिए पुरुषों पर दोष देती हैं। यदि आपके पास एक छोटा या सिर्फ एक औसत आकार है, तो आपको सिकंदर ई आज़म लिंग वृद्धि की दवा देनी चाहिए।

क्या पेनिकिंग द्वारा लिंग को बड़ा करना संभव है?

बड़ी संख्या में लोग हैं जो सोचते हैं कि क्या कैप्सूल से लिंग का आकार बढ़ाना संभव है? हाँ यही है।

जैसा कि हम जानते हैं कि, लिंग में कोई हड्डी नहीं होती है और यह बहुत अधिक सिकुड़ और विस्तारित हो सकता है। पेनिकिंग लिंग को बढ़ने के लिए उसी क्षेत्र को लक्षित करता है। यह सबसे कीमती जड़ी-बूटियों से बना है जो लिंग के ऊतकों (कॉर्पस कोवर्नोसुम) पर काम करते हैं और पोषण के लिए इसे मजबूत करते हैं जो एक निर्माण के दौरान रक्त को पकड़ने के लिए जिम्मेदार होते हैं। एक स्वस्थ तंत्रिका अधिक रक्त धारण कर सकती है जिसका अर्थ है आकार और मजबूत निर्माण। पेनिकिंग उन्हें स्वस्थ बनाने और उन्हें ठीक से काम करने के लिए उसी हिस्से पर काम करता है।

तो, हाँ पेनिकिंग कैप्सूल द्वारा लिंग का आकार बढ़ाना संभव है। इसे 3 महीने तक लें और परिणाम देखें।

पेनिकिंग लाभ-

  • लिंग का आकार बढ़ाएं (लंबाई और परिधि)
  • कठोरता और सहन-शक्ति बढ़ाएं
  • आश्चर्यजनक रूप से सेक्स की अवधि में सुधार करता है
  • शीघ्रपतन के कमजोर मुद्दे को नियंत्रित करता है
  • निराशाजनक स्तंभन समस्या से मुक्ति
  • कमजोरी को दूर करता है और नसों को मजबूत करता है
  • आत्मविश्वास और आत्म-विश्वास बढ़ाएँ
  • सभी पुरुष के यौन स्वास्थ्य में सुधार करता है
  • यूनानी और हर्बल सामग्री संयोजन
  • 100% दुष्प्रभाव मुक्त

क्या एक औसत आकार उसे संतुष्ट करने के लिए अच्छा है या मुझे अधिक के लिए जाना चाहिए?

यह तय करने के लिए कि क्या आप उसे संतुष्ट करने के लिए पर्याप्त हैं या आपको अधिक के लिए जाना चाहिए। आप उसे देख सकते हैं कि वह सेक्स करने के बाद कैसा महसूस करती है, अगर वह संतुष्ट है तो आपको कुछ भी करने की आवश्यकता नहीं है, लेकिन यदि वह संतुष्ट नहीं है तो आपको इसके बारे में सोचना चाहिए।

हाल के एक सर्वेक्षण के अनुसार, लगभग 50% महिलाओं को स्वीकार किया जाता है कि वे अपने भागीदारों से संतुष्ट हैं लेकिन फिर भी बड़े लिंग के आकार के साथ सेक्स करने की इच्छा रखती हैं। विशेष रूप से, जिन महिलाओं के कई साथी होते हैं वे एकल साथी महिलाओं की तुलना में बड़े लिंग से अधिक मोहित होती हैं क्योंकि उन्होंने स्वीकार किया कि बड़े लिंग के आकार के साथ यौन संबंध एक औसत से अधिक सुखद है।

भारत की टॉप पेनिस लंबी और मजबूत दवाई पेनिकिंग कैप्सूल आज़माएं

एक ही आला में 8 दशकों का अनुभव होने के बाद, हम जानते हैं कि लिंग कैसे काम करता है। हमने अपनी विशेषज्ञता का उपयोग पेनिकिंग को उन लोगों की मदद करने के लिए तैयार करने के लिए किया है जिनके पास छोटे या सिर्फ एक औसत लिंग का आकार है।

हमारे लिंग इज़ाफ़ा की कैप्सूल उन प्राथमिकताओं वाली जड़ी-बूटियों से बनी होती है, जो आपके लिंग की नसों और जननांगों पर सीधे काम करती हैं, जिससे रक्त का प्रवाह कठिन हो जाता है। लिंग रक्त के बारे में सब कुछ है, जितना अधिक रक्त यह उतना बड़ा और मजबूत होगा।

एक स्वस्थ लिंग लंबे समय तक अधिक रक्त धारण कर सकता है; यह आपको बड़े आकार और कठिन निर्माण देगा जो लंबे समय तक रहता है। सबसे अच्छी बात यह है कि इसके शून्य दुष्प्रभाव हैं। आप पहले सप्ताह में बेहतर निर्माण और समय को नोटिस करेंगे। पाठ्यक्रम की अवधि पूरी करें और एक बार जब आप परिणाम प्राप्त कर लेंगे, तो यह स्थायी रूप से होगा।

पेनिकिंग की खुराक?

खाने के बाद प्रति दिन की सिफारिश की खुराक 1 कैप्सूल है। आप इसे पानी या दूध के साथ ले सकते हैं। आपको सबसे अच्छा परिणाम प्राप्त करने के लिए इस लिंग वृद्धि की कैप्सूल को 3 महीने तक लेने की सलाह दी जाती है। जैसा कि एक व्यक्ति की क्षमता दूसरों से भिन्न होती है, आपको अपने खुराक और पाठ्यक्रम की अवधि को तदनुसार अनुकूलित करने की सलाह दी जा सकती है।

मात्रा और पैकेजिंग

पेनिकिंग की एक बोतल में 10 कैप्सूल होते हैं। आपको 1 महीने के लिए 3 बोतलें और 2 और 3 महीने की आपूर्ति के लिए सलाह दी जाती है। हम अपने ग्राहक की गोपनीयता का ध्यान रखते हैं और असतत पैकेजिंग प्रदान करते हैं। किसी को पता नहीं चलेगा कि सामने से पार्सल के अंदर क्या है। बस आराम करें और अपना ऑर्डर दें।

हमारे सन्तुष्ट ग्राहक

Ingredients (हर्बल सामग्री)

पेनिकिंग कैप्सूल आयुर्वेद के जादू से ओत-प्रोत हैं। यह इरेक्टाइल डिसफंक्शन, शीघ्रपतन, और स्खलन नियंत्रण को बढ़ाने में मदद करता है। इरेक्शन कठिन हो जाएगा, और अच्छे आहार के साथ सेवन शक्ति, जीवन शक्ति और कामेच्छा को बढ़ाएगा।

अल्पिनिया गंगल

अलपिनिया गंगल एक जड़ी बूटी है जो पहाड़ों और घास के मैदानों जैसे जंगली आवास में मौजूद है, और हर जगह खेती की जा सकती है। यह एक rhizomatous जड़ी बूटी है जिसमें सिनेल जैसे आवश्यक तेल होते हैं, और मिथाइल दालचीनी और फ्लेमोन जैसे घटक होते हैं। इसके मूल भाग का उपयोग इलाज में किया जाता है।

शतावरी रेसमास

शतावरी जाति की एक जड़ी बूटी है जो उच्च ऊंचाई में इसका निवास स्थान है। इसकी जड़ों में सैपोनिन्स होते हैं, जो इसके लिए टॉनिक का काम करते हैं।

दालचीनी कैसिया

दालचीनी कैसिया एक सदाबहार पेड़ है जिसका मूल दक्षिणी चीन में है। इसकी खेती दक्षिण अमेरिका, जापान, इंडोनेशिया और सुमात्रा में भी की जाती है। इसे अलग-अलग नामों से भी जाना जाता है, जैसे बस्टर्ड दालचीनी, चीनी दालचीनी, कैसिया लिग्निया, कैसिया बार्क, कैसिया एरोमैटिकम और कैंटन कैसिया। यह आमतौर पर खाद्य भंडार में पाया जा सकता है। इसके सूखे छाल का उपयोग उपचार के लिए किया जाता है।

कुकुर्बिता मैक्सिमा दुकेस्ने

Cucurbita maxima duchesne दक्षिण अमेरिका के मूल निवासी स्क्वैश प्रजातियों में से एक है। कद्दू के रूप में भी जाना जाता है, वे भारत, बांग्लादेश और बर्मा में भी खेती की जाती हैं। मांसल गूदा, फूल, पत्तियों और कद्दू की अधिकांश किस्मों के बीज खाने योग्य हैं। उनका उपयोग औषधीय प्रयोजनों के लिए किया जाता है जैसे।

कर्कुलिगो ऑर्किओइड्स

क्युरिक्लिगो ऑर्किओइड्स, जिसे काली मुसली के रूप में भी जाना जाता है, भारत के लिए एक जड़ी बूटी है। यह हिमालय के उपोष्णकटिबंधीय भाग में पाया जा सकता है। यह एक शक्तिशाली कामोद्दीपक और एडेपोजेनिक, इम्युनोस्टिममुलेंट, हेपेटोप्रोटेक्टिव, एंटीऑक्सिडेंट, कैंसर विरोधी और मधुमेह विरोधी के रूप में जाना जाता है। इसके गुणों में से एक और इसके शामक, निरोधी और एण्ड्रोजन जैसे प्रभाव हैं। इसके लाभ नीचे दिए गए हैं:

निगेला सतीवा

निगेला सातिवा, जिसे कलौंजी भी कहा जाता है, दक्षिणी यूरोप की एक मूल जड़ी-बूटी है। Nigella sativa, जिसे अक्सर काला जीरा कहा जाता है, परिवार Ranunculaceae, दक्षिण और दक्षिण-पश्चिम एशिया का मूल निवासी है। भारत में पूर्वी क्षेत्र में भी इसकी खेती की जाती है। इसके बीजों का उपयोग इलाज में किया जाता है।

पुएरिया ट्यूबरोसा

Pueraria Tuberosa को kudzu के रूप में भी जाना जाता है, भारतीय kudzu या नेपाली kudzu एक कंद वाली बेल है जिसमें बड़ी कंद मूल और वुडी ट्यूबरकुल्ट स्टेम होती है। यह निम्नलिखित उद्देश्यों के लिए उपयोग की जाने वाली एक बहुत प्रभावी जड़ी बूटी है

अश्वगंधा

विथानिया सोमीनिफेरा या अश्वगंधा एक पारंपरिक भारतीय जड़ी बूटी है जिसका उपयोग कई स्वास्थ्य समस्याओं के लिए किया जाता है। यह एक प्रसिद्ध एंटी स्ट्रेस एजेंट है, यह रक्त में टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाता है, कामोद्दीपक एवं प्राकृतिक एंटी ऑक्सीडेंट को अनुकूल बनाने के रूप में कार्य करता है। जब अश्वगंधा चिकित्सीय खुराक में लिया जाता है, तो यह शरीर में नाइट्राइड ऑक्साइड के स्तर को बढ़ाता है। जिसके परिणामस्वरूप शिश्न की रक्त वाहिकाओं में फैलाव होता है जिससे रक्त का प्रवाह अधिक होता है और लिंग बड़ा, सख्त निर्माण होता है।

शिलाजीत

शिलाजीत(Shilajit) विश्व की कुछ अद्वितीय चीजों में से एक माना गया है। यह सैकड़ों हज़ारों साल से चट्टानों की परतों के बीच मे दबे हुए जैविक पदार्थों के संकुचन से बनता है। यह बहुत ही प्रभावी और सुरक्षित अनुपूरक है जोकि आयुर्वेदिक दवाइयों में प्रयोग किया जाता है और आपके पूर्ण स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव छोड़ता है।

सफेद मुसली

क्लोरोफाइटम बोरिविलानम, जिसे हिंदी में सफेद मुसली के रूप में भी जाना जाता है, एक ट्रैंडामिक रसायन जड़ी बूटी है जिसका उपयोग भारतीय चिकित्सा (आयुर्वेद, यूनानी और सिद्ध) में एक कामोत्तेजक (यौन कार्य करने वाली दवाएं) और एडेपोजेनिक के रूप में किया जाता है। चोलोफाइटम बोरिविलनम की उपयोगिता और वयस्क पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन और वीर्य पर इसके प्रभाव का मूल्यांकन इस सहित विभिन्न नैदानिक परीक्षणों के माध्यम से किया गया है। क्लोरोफाइटम बोरिविलानम भी शुक्राणुजनन में सुधार करता है, टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ाता है, वृषण आकार और कामेच्छा बढ़ाता है। सफ़ेद मुसली अभी तक इस दवाई के लिए सबसे प्रभावी है,सुरक्षित प्रकृति के कारण सभी प्रकार की हर्बल कामोत्तेजक आयुर्वेदिक दवाओं में इस्तेमाल होने वाली सबसे पसंदीदा जड़ी-बूटियों में से एक है।

केसर

केसर एक गुणकारी खाद्य पदार्थ है, जो आपके संपूर्ण स्वास्थ्य का ध्यान रखने का काम कर सकता है। यह कई तरह के खास पोषक तत्वों से भरपूर होता है। जैसे, फाइबर, मैंगनीज, विटामिन सी, पोटेशियम आयरन, प्रोटीन, विटामिन ए आदि(1)। फाइबर पेट संबंधी समस्या जैसे अपच, कब्ज, गैस व मोटापे से निजात दिलाने का काम करता है(2)। वहीं विटामिन सी त्वचा में कोलेजन को बढ़ाता और त्वचा को एंटी एजिंग प्रभावों से मुक्त रखने का काम करता है(3)। केसर में मौजूद पोटेशियम शरीर में तरल के संतुलन को बनाने में मदद करता है(4)। आयरन शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में मदद कर एनिमिया से छुटकारा दिलाने का काम करता है (5)। नीचे जानिए केसर में मौजूद पोषक तत्व किस प्रकार शरीर की तकलीफों को कम करने का काम करते हैं।

कौंच

कौंच बीज एक आयुर्वेदिक दवा है, जो सेहत से संबंधित कई विकारों को दूर करता है। इसका इस्तेमाल खासकर पुरुष बांझपन और तंत्रिका विकारों के इलाज में किया जाता है। यह एक कामोद्दीपक औषधी (aphrodisiac) भी है। शुक्राणुता से लेकर पार्किंसंस रोग तक के इलाज के लिए कौंच का उपयोग आयुर्वेद चिकित्सा प्रणाली में किया जाता है। इसे वेलवेट बीन (velvet bean) के रूप में भी जाना जाता है। पुरुषों की यौन शक्ति को बढ़ाने में बहुत फायदेमंद होती है।

Product Quality

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

आयुर्वेदिक जढ़ी- बूटियों से तैयार की गयी पेनिकिंग आपके शरीर को अंदर से मजबूत बनती है।

  • यौन रोग एक शारीरिक और / या मनोवैज्ञानिक समस्या का परिणाम हो सकता है। पूर्व: मधुमेह, हृदय और संवहनी (रक्त वाहिका) विकार, हार्मोनल असंतुलन, दवा और शराब का उपयोग, काम से संबंधित तनाव और चिंता। जब कोई पुरुष संभोग के समय अपने गुप्तांग में पर्याप्त इरेक्शन या स्तंभन लाने में नाकामयाब हो जाता है या फिर उसको बरक़रार नहीं रख पाता, तब उस स्तिथि को इरेक्टाइल डिसफंक्शन या स्तंभन दोष कहते है (erectile dysfunction meaning)| एक पुरुष के लिए सबसे कठिन समय तब होता है जब वह अपनी पुरूषत्वता ही खो देता है | यह समय है इरेक्टाइल डिसफंक्शन (erectile dysfunction in hindi) या स्तंभन दोष की बीमारी| नज़रअंदाज़ करने पर इरेक्टाइल डिसफंक्शन (erectile dysfunction meaning in hindi) न केवल संतोषजनक संभोग करने में बाधा डालता है परन्तु एक दम्पति के बीच दूरियाँ भी पैदा कर देता है | इसके साथ-साथ पुरुष के स्वाभिमान को भी भारी ठेस पहुँचती है |

    1. अक्सर खानपान से जुड़ी गलत आदतें भी शीघ्रपतन का कारण बन सकती हैं. 
    2. शरीर में जरूरी विटामिन्स और मिनरल्स की कमी भी शीघ्रपतन का कारण बन सकता है.
    3. अक्सर पाचन या डाइजेशन कमजोर होने से भी यह समस्या हो सकती है.
    4. कब्ज भी इसका एक कारण हो सकता है. 
    5. हारमोन्स में किसी तरह का असंतुलन भी इसका कारण हो सकता है.
    6. कई बार पुरुषों में स्पर्म काउंट कम हो जाता है. यह भी शीघ्रपतन की एक वजह हो सकता है.
    7. शिश्न की नसों का सिकुड़ जाना भी शीघ्रपतन की एक वजह हो सकता है.
    8. चिन्ता और तनाव शीघ्रपतन के बड़े कारणों में से एक हो सकता है.
    9. आत्मविश्वास की कमी या प्रदर्शन का भय भी कई बार इसकी वजह बन सकता है.
    10. कई बार साथी के साथ भावनात्मक जुड़ाव का कम होने भी शीघ्रपतन का कारण बन जाता है.

  • टेस्टोस्टेरोन और थायराइड हार्मोन में कमी से इरेक्शन की समस्या हो सकती है। ऐसी ही एक बीमारी या फिर स्थिति है स्वप्न दोष। स्वप्न दोष एक ऐसी समस्या है जो धीरे-धीरे सामान्य होती जा रही है। आज बहुत से पुरुष इस स्थिति का सामना कर रहे हैं जब नींद की अवस्था में ही उनका वीर्य स्त्राव हो जाता है। युवावस्था में नींद के दौरान वीर्य स्खलन होना एक आम बात है लेकिन अगर ऐसा विवाह के बाद भी हो तो हालात जटिल हो जाते हैं। अकसर सपने में किशोरवय लड़के संभोग का आनंद लेते हैं और इसी दौरान उनका वीर्यपात हो जाता है, इस बीमारी को ही स्वप्न दोष के नाम से जाना जाता है। स्वप्नदोष के प्रमुख कारण अश्लील चिंतन, अश्लील फिल्म देखना व नारी स्मरण हैं। मन में भोग-विलास के वासनात्मक ख्याल या मन में काम-वासना के स्‍वप्‍नदोष का कारण बनते हें। हालांकि कई बार बिना सेक्स के बारे में सोचे भी स्वप्नदोष हो सकता है।

  • किसी पुरूष के पिता न बनने की स्थिति को मेल इनफर्टिलिटी कहा जाता है। जिसे आम भाषा में पुरूष बांझपन कहा जाता है। जब किसी पुरूष के गुप्त अंग पर्याप्त मात्रा में स्पर्म को उत्पन्न नहीं कर पाता है, तो इसके परिणामस्वरूप वे दंपत्ति संतान सुख से वंचित रह जाते हैं। आमतौर पर किसी दंपत्ति के संतान सुख न पाने का दोष महिला को ही दिया जाता है, लेकिन संतान पाने के लिए महिला और पुरूष दोनों का सेहतमंद होना आवश्यक होता है, अगर उनमें से कोई एक भी सेहतमंद नहीं है, तो उन्हें संतान सुख नहीं मिल पाता है। इस समस्या को मेडिकल भाषा में इनफर्टिलिटी कहा जाता है। इनफर्टिलिटी की समस्या पुरूष और महिला दोनों को हो सकती है। पुरूषों को होने वाले बांझपन को मेल इनफर्टिलिटी (Male Infertility) कहा जाता है। बांझपन एक शारीरिक स्थिति से उत्पन्न हो सकता है जो जन्म के समय मौजूद होता है या जीवन में बाद में विकसित होता है। पुरुष बांझपन के प्रमुख कारणों में शामिल हैं: हार्मोनल असंतुलन और वृषण विफलता।

    • वीर्य (सीमेन) में स्पर्म का न होना (एजोस्पर्मिया):  स्पर्म कौशिका से एग फर्टिलाइज होता है। वीर्य ही वह पौष्टिक पदार्थ होता है, जो स्पर्म को तैरने में सहायता करता है।

      वीर्य में स्पर्म के न होने पर एग फर्टिलाइज नहीं हो पाता है। ऐसे ही स्तिथि को इनफर्टिलिटी कहा जाता है जो पुरूष बांझपन के कारण होती है।

    • स्पर्म की संख्या का कम होना (ओलिगोस्पर्मिया): किसी व्यस्क में स्पर्म की सामान्य संख्या 15 मिलियन स्पर्म सेल प्रति सीमेन होती है। इस संख्या में कमी होने पर स्पर्म की एग में प्रवेश करने की संभावना कम हो जाती है।

      ऐसी स्थिति होने पर बहुत जल्दी पता लग जाता है की पुरूष बांझपन की समस्या से जूझ रहा है क्योंकि इसमें कम शुक्राणु गिनती होती है।

    • क्लाइनफेल्टर सिंड्रोम जैसे आनुवंशिक कारण का होना: इस सिंड्रोम वाले व्यक्ति में छोटे अंडाकोष (माइक्रोचरिज्म) होते हैं।

      वे टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के पर्याप्त स्तर का उत्पादन नहीं कर सकते हैं, जो पुरूष बांझपन (Male Infertility) का कारण बनता है।

    • वीर्य (सीमेन) में कमी होना- वीर्य (सीमेन) से तात्पर्य ऐसे तरल पदार्थ से है, जो शुक्राणु (स्पर्म) को तैरने और गतिशील करने में सहायता करता है। सीमेन स्पर्म को पौषण प्रदान करता है, ताकि वह सक्रिय रहे।

      सीमेन में किसी तरह की कमी होने पर स्पर्म समाप्त हो सकता है और यदि एक पुरूष में स्पर्म समाप्त हो जाता है तब आसानी से डॉक्टर के द्वारा बता दिया जाता है कि वह पुरूष बांझपन से गुज़र रहा है।

    • अंडकोष की नसों में वृद्धि होना (वैरिकोसेले): इस स्थिति में अंडकोष की नसे सूज जाती हैं, जिससे शुक्राणु (स्पर्म) को चलने में मुश्किल होती है। इससे शुक्राणु की गुणवत्ता भी कम हो जाती है।

    • संक्रमण: कुछ संक्रमण के कारण प्रजनन प्रणाली की नसों में चोट के निशान हो जाते हैं और इसकी वजह से वे ऊतक के साथ अवरुद्ध करते हैं।

    • ड्रग और शराब का सेवन करना: यदि कोई पुरूष ड्रग जैसे कोकनी और मारिजुाना का सेवन करता है तो वह उसके स्पर्म की गुणवता और गुणवत्ता में कमी कर सकते हैं।

      इसके साथ में शराब टेस्टोस्टेरोन स्तर को कम करती है, जो स्तंभन दोष का कारण बनता है और शुक्राणु उत्पादन को कम करता है।

  • हाइपोगोनाडिज्म देर से शुरू होने का पता आमतौर पर आपके लक्षणों और खून की जांच के नतीजों से पता चलता है। इसका उपयोग टेस्टोस्टोरोन का स्तर जानने के लिए किया जाता है। पुरुष रजोनिवृत्ति के लक्षणों को आप जीवनशैली में बदलाव लाकर कम कर सकते हैं। रजोनिवृत्ति मेनोपॉज एक प्राकृतिक, भावनात्मक और शारीरिक परिवर्तन है, जो हार्मोन में कमी के कारण होता है, जो पुरुषों के बड़े होने पर होता है।

    महिलाओं की रजोनिवृत्ति और पुरुषों में रजोनिवृत्ति दो भिन्न स्थितियां हैं। हालांकि, महिलाओं में अंडोत्सर्ग (ओव्यूलेशन) खत्म हो जाता है और हार्मोंस बनने भी कम हो जाते हैं और यह सब अपेक्षाकृत कम समय में होता है, जबकि पुरुषों में हार्मोन बनना और टेस्टोस्टोरोन की जैव उपलब्धता कई वर्षों में कम होती है। पुरुषों में रजोनिवृत्ति महिलाओं की अपेक्षा अचानक नहीं होती है। इसके संकेत और लक्षण धीरे-धीरे सामने आते हैं। पुरुषों के हार्मोन टेस्टोस्टोरोन के स्तर में कमी किसी भी सूरत में उस तेजी से नहीं होती है जिस तेजी से महिलाओं में होती है। विशेषज्ञ इसे एंड्रोपॉज, टेस्टोस्टोरोन डेफिशिएंसी या देर से शुरू हुआ हाइपोगोनाडिज्म कहते हैं।

    पुरुषों में रजोनिवृत्ति के संकेत और लक्षण

    • मूड बदलना और चिड़चिड़ापन।
    • शरीर में चर्बी का पुनर्वितरण।
    • मांसपेशियों की कमी।
    • शुष्क व पतली त्वचा।
    • अधिक पसीना निकलना।
    • एकाग्रता की अवधि कम होना।
    • उत्साह कम होना।
    • अनिद्रा या थकान महसूस होना।
    • यौन इच्छा का कम होना।
    • यौन क्रिया ठीक से न होना।

    ये सभी लक्षण हर पुरुषों में अलग-अलग हो सकते हैं। कई बार जब जीवनशैली या मनोवैज्ञानिक समस्या आदि पुरुषों में रजोनिवृत्ति के लिए जिम्मेदार नहीं होते तो इसके लक्षण हाइपोगोनाडिज्म के कारण सामने आ सकते हैं, जब हार्मोन कम बनते हैं या बनते ही नहीं हैं। किसी-किसी में हाइपोगोनाडिज्म जन्म से ही मौजूद होता है। कुछ मामलों में हाइपोगोनाडिज्म का विकास जीवन में आगे चलकर भी हो सकता है। खासकर उन पुरुषों में जो मोटे हैं या जिन्हें टाइप 2 डायबिटीज है। ऐसे पुरुषों में रजोनिवृत्ति के लक्षण सामने आ सकते हैं।

  • इंपोटेंस यानी कि नपुंसकता की वजह से पुरूषों में इरेक्शन और स्खलन से जुड़ी समस्याएं सामने आती हैं। इसे भी एक प्रकार का इरेक्टाइल डिस्फंक्शन माना जाता है। नपुंसकता के कई कारण हो सकते हैं। यह मनोवैज्ञानिक कारणों से भी हो सकता है और शारीरिक कारणों से भी। विशेषज्ञों का मानना है कि 40 से 70 साल तक की उम्र में तकरीबन 50 प्रतिशत पुरुष कभी न कभी इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की समस्या का सामना करते हैं। बढ़ती उम्र के साथ नपुंसकता का खतरा भी बढ़ता जाता है। इन मामलों में ऐसा अक्सर देखा गया है कि नपुंसकता से ग्रस्त लोगों में पढ़े लिखे लोगों की संख्या काफी कम होती है। ऐसा उनके स्वस्थ खान-पान और जीवनशैली की वजह से होता है। नपुंसकता की वजह से अक्सर लोगों में तनाव, अवसाद और कमजोर आत्मविश्वास की समस्या उत्पन्न हो जाती है। आइए, इस बात पर नजर डालते हैं कि किन वजहों से लोग इस समस्या का शिकार होते हैं।

    अंतःस्रावी रोगों की वजह से – शरीर का अंतःस्रावी तंत्र कई तरह के ऐसे हार्मोंन्स का स्राव करता है जो सेक्सुअल फंक्शन्स, प्रजनन क्षमता तथा मानसिक अवस्था पर अपना प्रभाव डालते हैं। अंतःस्रावी रोगों का सबसे बड़ा उदाहरण डायबिटीज है जिसकी वजह से भी नपुंसकता की समस्या उत्पन्न हो सकती है। डायबिटीज की वजह से हार्मोन्स का स्राव बुरी तरह से प्रभावित होता है।

    न्यूरोलॉजिकल और नसों संबंधी विकार की वजह से – तंत्रिका तंत्र से जुड़ी कई तरह की समस्याएं भी नपुंसकता का कारण होती हैं। नसों से संबंधित दिक्कतें प्रजनन क्षमता पर बुरा असर डालती हैं। इसी वजह से पुरूषों में इरेक्शन संबंधी समस्या आती है। प्रोस्टेट ग्लैंड सर्जरी कराने वाले पुरूषों में नसों को नुकसान पहुंचने की वजह से भी नपुंसकता आ सकती है।

    दिल संबंधी समस्याओं की वजह से – अगर आपको हृदय संबंधी समस्या है और आपका दिल ब्लड को ठीक तरह से पंप नहीं कर पा रहा है, तो ऐेसे में भी नपुंसकता आपको अपना शिकार बना सकती है।